Guide's

Franchise Meaning in Hindi | फ्रेंचाइजी  का अर्थ क्या है और इस Advantages and Disadvantages in Hindi

By June 21, 2020 One Comment

Franchise Meaning in Hindi क्या होता है और Franchise के Advantages and Disadvantages in Hindi क्या है, यह सभी जानकारी हम आपको बताने जा रहे हैं ताकि आपको किसी भी कंपनी की फ्रेंचाइजी लेने में आसानी हो

franchise meaning in hindi

Franchise Meaning in Hindi | फ्रेंचाइजी  का अर्थ क्या है और इसके

Franchise Advantages and Disadvantages in Hindi

Franchise Meaning in Hindi – आजकल देश विदेशों में बहुत बड़ी तादात में बड़ी-बड़ी कंपनियों ने अपने ब्रांड को बनाने के लिए बहुत पैसे खर्च करते हैं  और ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाने के लिए  उन्हें कई बड़े-बड़े शोरूम्स और दुकानें खोलनी पड़ती है.

ऐसे में इन शोरूम जोर दुकानों को संभालने के लिए बड़ी तादाद में लोगों को जॉब पर रखा जाता है, मगर अब नए दौर में यह बड़ी-बड़ी कंपनियां अपनी दुकानों में हिस्सेदारी देना शुरू कर दिए हैं,  इसकी वजह से कई आम लोगों को बहुत बड़े opportunity मिली है.

इन बड़ी कंपनियों ने अपनी दुकानों में हिस्सेदारी या हम कह सकते हैं कि फ्रेंचाइजी देना शुरू कर दिए हैं और इसकी वजह से इन कंपनियों का बहुत सा माल बहुत ही आसानी से आम लोगों तक पहुंच जाता है.

Franchise Meaning in Hindi | Franchise क्या होती है और इससे आम लोग कैसे जुड़ सकते हैं

लोगों को आजकल अच्छी कंपनियों का माल ही खरीदना होता है और ऐसे में लोग इन कंपनियों की दुकानों को ढूंढते हैं, ज्यादातर इनकी बड़ी दुकानें बड़े मॉल्स में ही मिलती है और आपको तो पता ही होगा कि इन मॉल्स में कीमत बहुत ज्यादा होती हैं. मगर यही बड़ी कंपनियां अपने प्रोडक्ट को छोटे दुकानदारों को बेचने का मौका देती है, ऐसे में इन दुकानदारों को इन बड़ी कंपनियों में फ्रेंचाइजी के लिए आवेदन देना होता है.

अगर आप यह मानते हैं कि किसी कंपनी का प्रोडक्ट बहुत ही अच्छा है और लोग उसे बहुत पसंद करते हैं, तो ऐसी कंपनियों के फ्रेंचाइजी को आवेदन करना बहुत ही अच्छा सौदा है.

यह सारी बड़ी कंपनियां चाहती है कि इनके प्रोडक्ट ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पीके ऐसे में यह अपनीफ्रेंचाइजी को पूरे देश में फैलाने का प्रयास करते हैं.

जितनी ज्यादा फ्रेंचाइजी कंपनी की होगी उतना ही उनका माल पूरे देश मैं बिकना शुरू होगा और इससे कंपनी का बहुत ज्यादा मुनाफा होता है.

अगर आप एक अच्छा और बड़ा कारोबार करने की सोच रहे हैं तो आपको किसी अच्छी कंपनी की फ्रेंचाइजी के लिए अप्लाई करना चाहिए क्योंकि आज के दौर में देश के लोगों की आय अच्छी है ऐसे में वह अच्छे ब्रांच को पहनना और उन्हें यूज करना पसंद करते हैं.

Many types of franchises | कई प्रकार की फ्रेंचाइजी होती है

अगर हम फ्रेंचाइजी की बात करें तो यह दो प्रकार की होती हैं, एक तो यह retail और दूसरा यह wholesale होता है.

इन दोनों फ्रेंचाइजी के लिए आपको कंपनी के प्रोडक्ट को लोगों तक डिसटीब्यूट करना होता है जिससे कि लोगों को एक बड़ी कंपनियों के प्रोडक्ट आसानी से मिल सके.

Retail Franchise Meaning in Hindi | Retail Franchise क्या होती है

आपने कई ऐसी बड़ी-बड़ी कंपनियों की दुकानें देखे होंगे जहां पर आपको उन कंपनियों के ब्रांडेड प्रोडक्ट्स मिलते हैं, यह रिटेल फ्रेंचाइजी होती है जो कि सिर्फ उन्हीं कंपनियों का ही माल भेजती है जिनकी यह फ्रेंचाइजी दुकान होती है, आपको इन दुकानों में हर किसी कंपनी का प्रोडक्ट नहीं मिलेंगे.

Retail Franchise का मतलब यही है कि सिर्फ एक ही कंपनी के प्रोडक्ट उस दुकान में आपको मिलेंगे जिस कंपनी की फ्रेंचाइजी होगी और किसी अन्य कंपनी के प्रोडक्ट आपको इन दुकानों में नहीं मिलेंगे.

Retail Franchise ओनर को हमेशा अपने Franchiser company के प्रोडक्ट ही बेच सकते हैं और कई अन्य प्रोडक्ट बेचना नहीं होता इसी को ही रिटेल फ्रेंचाइजी कहते हैं.

रिटेल फ्रेंचाइजी को आवेदन करने के लिए आपको इन  Franchiser company मैं आवेदन करना होगा और उनकी सभी शर्तों को ध्यान से पढ़ कर अगर आपको यह लगता है किआप यह रिटेल फ्रेंचाइजी कर सकते हैं तो आपको इसे खोलना बहुत ही आसान होगा.

Wholesale Franchise Meaning in Hindi | Wholesale Franchise क्या होती है

क्या कई ऐसी कंपनियां होती है जो कि रिटेल फ्रेंचाइजी नहीं देती वह सिर्फ होलसेल फ्रेंचाइजी ही देती है, क्योंकि उन्हें अपना प्रोडक्ट सभी दुकानों में बेचने में कोई दिक्कत नहीं होती ऐसे में वह वह सिर्फ Wholesale Franchise ही उपलब्ध कराती है.

आप इसे Wholesale फ्रेंचाइजी या फिर Wholesale डिस्ट्रीब्यूटर भी कह सकते हैं, इसमें कंपनी आपको अपने सभी प्रोडक्ट को होलसेल में बेचने के लिए अनुमति देती है जिससे कि आप इन कंपनियों के प्रोडक्ट को सभी दुकानों में भेज सकें.

इसमें कंपनियों को अपनी फ्रेंचाइजी खोलने की झंझट नहीं होती, वह एक शहर में अपना एक डिस्ट्रीब्यूटर पॉइंट कर देती है जिससे कि वह डिस्ट्रीब्यूटर कंपनी के सभी प्रोडक्ट को हर दुकानों में बेचने के लिए पहुंचाता है, ऐसे में लोगों को भी यह आसानी हो जाती है कि उनके आसपास की दुकानों में ही ब्रैंडिट सामान मिल जाता है.

होलसेल डिस्ट्रीब्यूटर को भी एक बहुत बड़ा मार्केट मिल जाता है जिससे कि वह कंपनी के प्रोडक्ट कोज्यादा से ज्यादा दुकानों तक भेज सके और अच्छा मुनाफा कमा सके.

Wholesale फ्रेंचाइजी को आवेदन करने के लिए आपको पहले यह पता होना चाहिए कि आप को किस प्रोडक्ट को बेचने में रुचि है ऐसे में आपके लिए यह आसान इस कंपनी के प्रोडक्ट को डिसटीब्यूट करना है.

Wholesale फ्रेंचाइजी आवेदन करने से पहले आपको हर प्रोडक्ट के कमीशन के बारे में पूरी जानकारी होनी चाहिए आप कई कंपनियों की inquiry एक साथ कर सकते हैं जहां पर आपको क्वालिटी और मार्जिन के बारे में सही जानकारी प्राप्त करनी होगी.

भारत में जल्द से जल्द अमीर कैसे | How to rich earliest in India

आप चाहे तो आप अन्य डिस्ट्रीब्यूटर से भी कांटेक्ट कर सकते हैं और कंपनी के बारे में सभी जानकारी जुटा सकते हैं जिससे कि आपको फैसला लेने में काफी आसानी होगी.

कंपनी के प्रोडक्ट के बारे में लोगों की राय पहले जान लीजिए कि कंपनी का प्रोडक्ट कैसा है, आप कंपनी के प्रोडक्ट की जानकारी ऑनलाइन भी चेक कर सकते हैं जहां पर लोग इन कंपनियों के बारे में बताते हैं और उनके प्रोडक्ट के बारे में कि यह अच्छा है या नहीं.

Franchise के Advantages in Hindi | Franchise के Advantages क्या है

अगर आप फ्रेंचाइजी लेना चाहते हैं तो उसके फायदे यह है कि जो कंपनी सबसे ज्यादा पॉपुलर है आप उसी ही कंपनी के Franchise ले, क्योंकि जो ज्यादा पॉपुलर होती है उसके अंदर बहुत ही अच्छा मार्जिन आपको मिल जाता है.

अच्छी कंपनियों के प्रोडक्ट लोग बहुत ही आसानी से लेते हैं क्योंकि उन प्रोडक्ट्स पर लोगों का भरोसा होता है जिसे कि वजह से उन्हें खरीदने में कोई दिक्कत नहीं होती.

Franchise owner को कोई advertisement नहीं करना पड़ता है, सभी प्रोडक्ट की जितनी भी एडवर्टाइजमेंट होती है वह ज्यादातर कंपनियां ही करती है और वह अपने प्रोडक्ट को एक brand बना देते हैं, ऐसे में Franchise owner को कंपनी के एडवर्टाइजमेंट का बहुत ज्यादा फायदा होता है और कंपनी के एडवर्टाइजमेंट से Franchise owner बहुत ज्यादा फायदा होता है.

Franchise के Disadvantages in Hindi | Franchise के Disadvantages क्या है

आपको पता होना चाहिए Franchise के Disadvantages क्योंकि यह बहुत ज्यादा जरूरी है, अगर आप यह पहले मालूमात नहीं करोगे तो फ्रेंचाइजी लेने के बाद अगर आपको प्रोडक्ट या कंपनी के किसी नियम से दिक्कत होती है तो आपको काफी मुश्किल आ सकती है.

एक दिक्कत यह है फ्रेंचाइजी लेने में की कंपनी एक हेवी डिपॉजिट आपसे मांगती है जो कि लाखों में हो सकता है ऐसे में आम आदमी इन बड़ी कंपनियों की फ्रेंचाइजी नहीं ले सकता.

कई कंपनियां इस पूरे प्रोडक्ट का पैसा एक साथ मांगती है जिससे कि आपको कंपनी से माल खरीदने में दिक्कत हो सकती है, इन कंपनियों की फ्रेंचाइजी लेने से पहले आप terms and condition को अच्छे से पढ़ ले और और फिर इस कंपनी की फ्रेंचाइजी लेना है या नहीं इस पर आप अपना डिसीजन ले.

भारत में व्यापार के लिए शून्य निवेश के विचार | zero investment ideas for business in india

कई कंपनियां पहले आपकी दुकान का expansion करती है क्योंकि उन्हें यह लगता है कि क्या यह दुकान उनके प्रोडक्ट्स को भेजें लायक है या नहीं, ऐसे में अगर आप की दुकान छोटी है या ऐसी जगह पर है जहां पर मार्केट नहीं है तो वह आपको अपनी कंपनी की फ्रेंचाइजी नहीं देगी.


Franchise Meaning in Hindi – आपको लगता है कि आपको फ्रेंचाइजी किसी कंपनी की चाहिए तो आप सबसे पहले मार्केट में और कई डीलर और फ्रेंचाइजी owner से कंपनी के बारे में और प्रोडक्ट के बारे में मालूमात ले, इंटरनेट पर भी आप इन कंपनियों के बारे में जान सकते हैं कि यह कितनी पुरानी कंपनियां है जिससे कि आपको उस कंपनी पर विश्वास हो और उसके प्रोडक्ट पर भी.

बहुत सारी ऐसी कंपनियां होती है जो कि कुछ ही साल पहले ही आई होती है और वह लोगों को सामान की क्वालिटी में बहुत ज्यादा खराबी पाई जाती है ऐसे में आपको उन कंपनियों के प्रोडक्ट के सामान की खुद जानकारी लेनी चाहिए जिससे कि आपका उन कंपनियों पर भरोसा हो.

क्योंकि फ्रेंचाइजी लेने के लिए काफी निवेश करना पड़ता है और अगर आप किसी की सुनी सुनाई बातों पर निवेश कर देते हैं तो यहआपके लिए काफी नुकसानदायक हो सकता है, निवेश में पहले आप पूरी मालूमात ले और फिर किसी निर्णय पर पहुंचे.

 

 

 

 

One Comment

Leave a Reply